Home / antarvasana in hindi / चुदक्कड़ बहन ने लोड़ा पकड़ा Antarvasna | Hindi Sex Stories

चुदक्कड़ बहन ने लोड़ा पकड़ा Antarvasna | Hindi Sex Stories

… : महेश … , मेरी डॉट कॉम पर यह पहली story है और में आशा करता हूँ कि आप लोगों को मेरी यह story बहुत पसंद आएगी। मेरा नाम महेश है और मेरा रंग बहुत गोरा है और में 29 साल का हूँ, मेरी हाईट 6 फुट है। मेरे घर में मेरे मम्मी, पापा और मेरी एक छोटी बहन और में हूँ, हम चार लोग रहते है। मेरे पापा बैंक में सर्विस करते है और मम्मी हाउस वाईफ है और मेरी बहन का नाम पूजा है, वो 18 साल की है और 12वीं क्लास में पढाई कर रही है, वो दिखने में बहुत ही सुंदर है और फिगर साईज 38-26-38 है, उसके बूब्स बहुत मस्त है। यह बात उन दिनों की है जब में 12वीं क्लास में पढाई कर रहा था। फिर एक दिन में स्कूल से घर आया तो मेरे घर में मेरी बहन के अलावा और कोई नहीं था। फिर तभी मैंने उससे कहा कि सब कहाँ गये है? तो उसने कहा कि मामा के यहाँ से फोन आया था, मामा का एक्सीडेंट हो गया है तो पापा मम्मी दोनों उन्हें देखने गये है। फिर मैंने उससे कहा कि मम्मी खाना बनाकर गई है या नहीं। तो उसने कहा कि हाँ। तो मैंने उससे पूछा कि तुमने खाना खा लिया? तो उसने कहा कि नहीं। फिर मैंने उससे कहा कि चलो खा लेते है। फिर खाना खाते वक़्त मैंने टी.वी चला ली और स्टार मूवी चलाकर देखने लगा। अब उस पर एक गर्मा गर्म सीन आ रहा था। एक बात आपको और बता दूँ कि हमारे घर में एकदम खुला माहौल है।अब वो सीन देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया था और मेरी पैंट में से बाहर आने की कोशिश करने लगा था। फिर हम जैसे खाना खाकर उठे तो मेरी बहन ने मेरी पैंट में से उभरा हुआ लंड देख लिया और थोड़े टाईम तक देखती रही। फिर मैंने उससे कहा कि क्या हुआ? क्या देख रही हो? तो वो शर्मा गई और किचन में चली गई। फिर रात को जब सोने का टाईम आया तो मैंने उससे कहा कि आज घर में कोई नहीं है तो हम एक बेड पर ही सो जाते है, तो उसने हाँ कर दी और में रात में लुंगी पहनकर सोता था। फिर रात के 2 बजे मुझे ऐसा लगा कि जैसे कोई मेरी लुंगी में हाथ डालकर मेरे लंड को दबा रहा तो मैंने आँख खोलकर देखा तो में दंग रह गया, वो मेरी बहन पूजा थी। अब उसका हाथ लगने से मेरा लंड खड़ा हो गया था और अब वो डरकर सो गई थी। फिर में उसके पास जाकर उसकी जाँघ पर अपना एक हाथ धीरे-धीरे फैरने लगा। अब मेरा हाथ उसकी जाँघ पर रखते ही वो घबरा गई थी और करवट लेकर सो गई थी।फिर मैंने फिर से अपना एक हाथ उसकी जाँघ पर रख दिया, तो इस बार उसने कोई जवाब नहीं दिया, तो में समझ गया कि लाईन साफ़ है। फिर मैंने अपना एक हाथ उसके बूब्स पर रख दिया और धीरे- धीरे सहलाने लगा और वो सोने का नाटक करती रही। फिर मेरी हिम्मत और बढ़ गई तो मैंने उसके बूब्स जोर-जोर से दबाने शुरू कर दिए। अब उसके मुँह से सिसकारी निकलने लगी थी आह, आह, आह और फिर वो एकदम से बोली कि भैया यह आप क्या कर रहे है? फिर मैंने कहा कि वही जो तुम चाहती हो। फिर वो मेरा हाथ झटककर बोली कि ये गलत है। तो मैंने कहा कि तुम करो तो सही और हम करे तो गलत। तो वो बोली कि मैंने क्या किया है? तो मैंने कहा कि भोली मत बनो, तुम ही तो मेरा लंड अपने हाथ में लेकर सहला रही थी। तो वो चौंककर बोली कि आप सब जानते थे कि में आपका हिला रही हूँ, तो मैंने कहा कि हाँ। फिर मैंने उससे कहा कि तुमने भूखे शेर को जगा दिया है और फिर उसके लिप्स पर अपने लिप्स लगा दिए और उसे किस करने लगा। तो तब उसने मुझसे छूटने की बहुत कोशिश की, लेकिन ना कामयाब रही। ये कहानी आप डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर में उसे किस करते-करते उसके बूब्स दबाने लगा, तो वो भी थोड़ी गर्म हो गई और मुझे किस में साथ मिलने लगा। फिर में अपना एक हाथ उसकी चूत पर लगाकर उसकी चूत को सहलाने लगा तो वो और गर्म हो गई। फिर मैंने उसकी मेक्सी उतार दी, अब वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी और मेरे सामने शर्मा रही थी। फिर मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ? तो वो बोली कि में पहली बार किसी के सामने इस तरह से खड़ी हुई हूँ और उसका बदन देखने लायक था। वो बहुत ही सुंदर और सेक्सी लग रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उसकी ब्रा और पेंटी भी उतार दी। अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी और में पूरे कपड़े पहने हुए था। फिर तभी उसने मुझसे कहा कि आपने मेरे तो सारे कपड़े उतारकर नंगी कर दिया और आपने अभी तक सारे कपड़े पहन रखे है। तो में उसके मुँह से यह बात सुनकर हैरान रह गया।फिर मैंने उससे कहा कि तुम ही मेरे सारे कपड़े उतार दो। तो उसने जल्दी से मुझे नंगा कर दिया और वो मेरा लंड देखकर हैरान रह गई और बोली कि आपका तो इतना बड़ा है। फिर मैंने कहा कि पसंद आया? तो वो बोली कि बहुत पसंद आया और फिर में उसके बूब्स अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और वो मेरा लंड अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी। फिर में अपना एक हाथ उसकी चूत के यहाँ लगाकर उसकी चूत को सहलाने लगा और अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी, उसकी चूत बहुत ही टाईट थी। अब मेरी उंगली अंदर नहीं जा पा रही थी। अब मेरी उंगली अंदर जाते ही उसके मुँह से आवाजे आनी शुरू हो गई थी उहह, आह, धीरे, आह, उह। फिर उसने मुझसे कहा कि भैया मुझे कुछ हो रहा, तो मैंने उसे फटाफट से लेटा दिया और उसकी चूत के मुँह पर अपना लंड रखा और अन्दर डालने लगा, मगर मेरा लंड अंदर नहीं जा पा रहा था तो में तेल लेकर आया और उसकी चूत पर अपना लंड लगाया और फिर मेरा लंड उसकी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगा, लेकिन मेरा लंड का टोपा अंदर ही गया था।फिर तभी वो ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने और चीखने लगी और रोने लगी। तो में रुक गया और उसके बूब्स दबाने लगा और किस करने लगा। फिर थोड़ी देर में ही वो शांत हो गई। फिर मैंने धीरे-धीरे धक्के लगाने शुरू किए और उसे किस करने लगा। फिर मैंने एक ज़ोरदार धक्का लगाया तो मेरा लंड उसकी सील तोड़ता हुआ अंदर चला गया, लेकिन अब मेरे लिप्स उसके लिप्स पर होने की वजह से उसके मुँह से चीख नहीं निकली थी। अब थोड़ी देर के बाद उसे भी मजा आने लगा था और अब वो भी मेरा साथ देने लगी थी। फिर 15 मिनट की चुदाई के बाद में अपनी चरम सीमा पहुँच गया तो मैंने अपना लंड बाहर निकालकर उसके पेट पर ही अपना वीर्य गिरा दिया और इस बीच उसने भी अपना पानी छोड़ दिया था। अब हम दोनों शांत हो गये थे। फिर हम दोनों को जब कभी भी कोई मौका मिला तो हमने खूब चुदाई की और खूब इन्जॉय किया ।।धन्यवाद …