Home / antarvasana .com / पहली चुदाई एक चालू गर्ल के साथ Antarvasna | Hindi Sex Stories

पहली चुदाई एक चालू गर्ल के साथ Antarvasna | Hindi Sex Stories

… : अनिल … , मेरा नाम अनिल है और में रायपुर का रहने वाला हूँ। मेरी यह story 5 साल पहले की है। मेरी उम्र 25 साल है, मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है, मेरा लंड 6 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है। अब में आपको उस लड़की के बारे में बता देता हूँ जिसके साथ मैंने पहली और आखरी बार सेक्स किया था। उसका नाम गीता है और उसका फिगर साईज 34-28-38 है, उसके बूब्स बड़े बड़े और बड़ी सी गांड है, वो बहुत चालू लड़की थी। अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी story पर आता हूँ। जब साल 2013 का मार्च का महिना था। फिर 10 तारीख को मेरे घर गीता के पापा आए और उनके साथ में गीता भी थी। फिर उन्होंने पापा से बात की और बोले कि 15 तारीख से गीता के एग्जॉम है और उसका सेंटर आपके घर के पास वाले स्कूल में आया है तो इसलिए जब तक गीता के एग्जॉम है, वो आपके घर पर ही रहेगी, तो मेरे पापा ने हाँ कर दी।फिर गीता का बिस्तर मेरे ही रूम में लगा। अब वो रात को पढ़ती थी और में कंप्यूटर पर बैठा रहता था। फिर पहली रात ऐसे ही निकल गयी। फिर अगले दिन सुबह हम दोनों का परिचय हुआ। फिर उसने अपने बारे में बताया और मैंने उसे अपने बारे में बताया। फिर शाम को हम छत पर बैठे थे, तो उसने पूछा कि तुम्हारे कोई दोस्त नहीं है क्या? तो मैंने मज़ाक में कह दिया कि तुम बन जाओ। तो पहले तो वो हँसने लगी और फिर बोली कि ठीक है आज से तुम मेरे और में तुम्हारी दोस्त हूँ। फिर थोड़ी देर तक ऐसे ही बात करने के बाद वो बोली कि क्या हम फ्रेंकली बात कर सकते है? तो मैंने कहा कि क्यों नहीं? अब तो हम दोस्त है। फिर उसने कहा कि सेक्स के बारे में तुम्हारी क्या सोच है? अब उसके मुँह से ये सुनकर में हैरान हो गया था कि वो क्या बोल रही है? तो उसने कहा कि क्या हुआ? अब मैंने पहली बार किसी लड़की के मुँह से ऐसा सुना था इसलिए मुझे थोड़ा अजीब लगा था। फिर तभी उसने कहा कि अब तो हम दोस्त है।फिर रात हुई, फिर हमने डिनर किया और फिर हम छत पर चले गये और मस्ती करने लगे। फिर मेरा मन कुछ हरकत करने को करने लगा तो मैंने अपना एक हाथ उसकी गांड पर रख दिया। तो वो कुछ नहीं बोली। अब में अपने एक हाथ से उसकी गांड को सहलाने लगा था। तो वो कुछ नहीं बोली। फिर ये देखकर मुझे भी थोड़ी हिम्मत मिली। फिर मैंने एक दीवार के सहारे खड़े होकर उसका चेहरा अपने हाथों में लिया और उसे किस करने लगा, वो अभी भी चुप थी। तो ये देखकर में समझ गया कि वो भी यही सब चाहती है। फिर क्या था? अब में उसे ज़ोर-ज़ोर से किस करने लगा था। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। ये कहानी आप डॉट कॉम पर पड़ रहे है।अब मेरा एक हाथ उसके बूब्स पर था और उसका एक हाथ मेरे लंड पर था जैसे कि गर्मियों में 90% पहनावा हाफ पेंट और टी-शर्ट होता है, तो मैंने भी यही पहना हुआ था। अब मेरा हाथ उसके बूब्स से हटकर धीरे-धीरे उसकी चूत पर चला गया था। अब में उसकी चूत को धीरे-धीरे दबा रहा था। फिर थोड़ी देर के बाद वो अपने घुटनों के बल बैठ गई और फिर उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और उसे चूसने लगी। में बता नहीं सकता मुझे कितना मज़ा आ रहा था? वो बड़ी मादरज़ाद लड़की थी, मुझे नहीं मालूम था वो ऐसी होगी। फिर वो उठी, तो मैंने उससे कहा कि अब रूम में चलते है, तो फिर हम रूम में आ गये। फिर मैंने रूम लॉक किया, अब सब सो चुके थे। फिर जैसे ही मैंने रूम लॉक किया, तो वैसे ही उसने रूम की लाईट जलाई और मुझसे लिपट गई। अब हम एक दूसरे को किस करने लगे थे।  फिर मैंने उसका सूट उतारा और उसके बूब्स को उसकी ब्रा के अंदर से पकड़कर दबाने लगा, उसने लोवर पहना हुआ था।फिर मैंने उसे बेड पर लेटाया और उसकी दोनों टांगे अपने कंधो पर रख ली और उसका लोवर पकड़कर खींच दिया। अब मेरे सामने एक लड़की सिर्फ़ पेंटी और ब्रा में लेटी हुई थी। अब उसने भी मेरे सारे कपड़े उतार दिए थे और अब हम दोनों एक दूसरे के सामने आधे नंगे थे। अब वो पेंटी और ब्रा में थी और में चड्डी में था। फिर मैंने उसकी ब्रा भी खोल दी। अब उसके बूब्स मेरे सामने थे और में उन्हें दबा रहा था और चूस रहा था। अब उसके मुँह से आवाज आ रही थी और ज़ोर से दबाओ, ऊओ, आआ मेरे राजा, ऊऊ, एयाया। फिर मैंने उसकी पेंटी भी उतार दी और उसने भी मेरी चड्डी पकड़कर नीचे कर दी। अब हम दोनों एक दूसरे के सामने एकदम नंगे थे। फिर पहले तो में उसके नंगे बदन को देखता रहा और फिर हम एक दूसरे से लिपट गये। फिर मैंने उसे बेड पर लेटाया और उसे किस करने लगा। फिर में उसके बूब्स को दबाने लगा और चूसने लगा। अब उसके मुँह से आवाज़े आ रही थी आआआआ, बहुत मज़ा आ रहा है, हाईईईईईईईईई, सस्स्स्स्शह, ऐसे ही करते रहो।फिर में थोड़ा नीचे हुआ और उसके पेट को चूमने लगा और फिर उसके बाद में थोड़ा और नीचे हुआ और  उसकी जांघो को चूमने लगा। अब मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था। फिर मैंने उसकी चूत पर अपना एक हाथ रखा और उसे दबाने लगा। फिर मैंने अपने हाथ की एक उंगली उसकी चूत में डाल दी। फिर तभी उसके मुँह से आवाज आईई स्शहहह, आह। फिर मैंने अपनी जीभ को उसकी चूत में डाला और अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा। अब मुझे उसकी चूत चाटने में बहुत मज़ा आ रहा था। फिर में बेड पर लेट गया और वो मेरा लंड पकड़कर मुठ मारने लगी। अब हम 69 की पोज़िशन में आ गये थे, अब में उसकी चूत चाट रहा था और वो मेरा लंड चूस रही थी। अब हम दोनों सेक्स के लिए तैयार हो चुके थे। फिर में उसकी दोनों टांगों के बीच में बैठ गया और अपना लंड पकड़कर उसकी चूत के छेद पर रख दिया और एक ज़ोर का धक्का मारा। फिर तभी उसके मुँह से आवाज आई आआआ में मर गयी।अब मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया था। अब उसे दर्द हो रहा था, तो तभी मैंने पूछा कि क्या हुआ? तो उसने कहा कि कुछ नहीं, करते रहो, वो एक नंबर की चुदक्कड़ थी। फिर मैंने एक और धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया। फिर में उसके ऊपर लेट गया और उसे किस करने लगा, ताकि उसे दर्द महसूस ना हो। फिर मैंने 5-6 धक्के और लगाए तो तभी मेरा पानी उसकी चूत में निकल गया। अब में उसके ऊपर लेट गया था। फिर थोड़ी देर तक में ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा। फिर उसने कहा कि कोई बात नहीं पहली बार ऐसा हो जाता है। फिर अगली रात फिर से ऐसा ही हुआ और मैंने उसकी जमकर चुदाई की। अब इस बार वो भी 100% संतुष्ट थी और में भी संतुष्ट था। यह था मेरी लाईफ का पहला और आखरी सेक्स और फिर इसके बाद मैंने कभी सेक्स नहीं किया, क्योंकि मेरे कोई गर्लफ्रेंड ही नहीं है ।।धन्यवाद …