Home / desi sex stories / मैडम के साथ फ़ोन सेक्स-6

मैडम के साथ फ़ोन सेक्स-6

मे: मैं तुमसे बात करते हुए, मास्टरबेट कर रहा था और जब तुमने ये बात बोली की यु ऑल्सो वांट तो स्लीप विद मी तो मेरे से कंट्रोल नहीं हुआ और मैं झड़ गया.
आंशिका: बट विशाल मैं अभी तक नहीं झड़ी हूँ.

अब आगे….

वाउ, ये सुनते ही मेरी आँखें खुल गयी, लंड फिर से तन गया, चलो अब ये मेरी हुई, इसे जब चाहे, जहाँ चाहे कुछ भी कर सकता हूँ अब से, आज से ये आंशिका मेरी हुई

मे: ओह जान, मैं हेल्प करूँ?
आंशिका: तुम कैसे करोगे? तुम तो दूर हो.

मे: तुम्हारी वर्जिना पर हयर्स हैं?
अँहसिका: हाँ

मे: वाउ, आई लाइक पब्लिक हेयर्स , प्लीज़ काटना मत उन्हे, जब तक मैं उन्हे निहार ना लूँ, उन्हे प्यार ना करलूँ.
आंशिका: ठीक है, जैसा तुम बोलो

मे: आंशिका यु नो आई एम् वर्जिन?
आंशिका: लगता तो नहीं, बहुत क्लेवर हो तुम, आई एम् इंप्रेस्ड. पहले कभी किसी की साथ नहीं करा?

मे: नहीं यार नोथिंग , यु आर द वन. तुम जैसी दोस्त मिली नहीं पहले कभी जो मेरा इतना ध्यान रखती.
अँहसिका: चलो अब मैं मिल गयी हूँ, डॉन’त वोरी , आई विल टेक युवर वर्जिनिटी

मे: ओह गोड , आई कांट वेट नाउ
आंशिका: यार तुम्हारे मैं यही प्राब्लम है, बी पेशेंट.

मे: यार तुम क्या जानो, आई एम् वर्जिन. यु ऑल्सो वर्जिन ओर नोट?
आंशिका: सच बताऊँ या झूठ?

मे: आई नो की तुम सच ही बताओगी , तो बताओ सच.
आंशिका: आई एम् नोट वर्जिन.

ये सुनकर मुझे थोड़ी सी निराशा हुई, बट चूत मिलने की खुशी मैं ये निराशा कुछ नहीं थी.

मे: ओक, कब लूस करी वर्जिनिटी?
आंशिका: वेन आई वाज़ 23.

मे: ओक, बी ऍफ़ को?
अँहसिका: हाँ.

मे: देन अब कहाँ है वो?
आंशिका: पता नहीं, हूमें बस 2 महीने ही हुए थे. ही हेड मी ओन हिस बर्थडे .

मे:ओक, कितनी बार कर चुकी हो उसके साथ?
आंशिका: सिर्फ़ एक बार.

अब थोड़ी जान मैं जान आई चलो सिर्फ़ एक बार ही चुदी है, वो तो ना के बराबर ही है

मे: सिर्फ़ एक ही बार, ऐसा क्यूँ?
आंशिका: वो उसी वीक अपनी सिटी नागपुर वापस चला गया. उसके बाद हुमारी बात नहीं हुई ज़्यादा.

मे: यु मिस हिम ?
आंशिका: नहीं, बिल्कुल नहीं.

मे: ओक, मतलब प्यार नहीं था तुम दोनो को.
आंशिका: मुझे था पर उसे नहीं था.

मे: उसने बोला था ये तुमको?
आंशिका: नहीं पर जब बर्थडे वाले दिन वो मेरे को बार बार फोर्स कर रहा था सेक्स करने के लिए तो सॉफ पता चल गया था उसकी बातों से उसे मैं नहीं मेरा शरीर चाहिए, उस दिन के बाद ना तो उसने ज़्यादा कॉंटॅक्ट करा और मैने तो करा ही नहीं.

मे: ओक. मैं एक बात पूछूँ बुरा तो नहीं मनोगी?
आंशिका: बिल्कुल नहीं मानूँगी, जो पूछना है पूछो.

मे: तुम फिर अब मेरे साथ करने को कैसे रेडी ओ गयी, जब तुम फर्स्ट टाइम हर्ट हो चुकी हो उस बंदे से?
आंशिका: असल में, तब आई वास नोट एक्सपेक्टिंग देट , और यु नो ई आम 27 नाउ, सो अब मन करता है यार, कॉलेज मैं जब बाकी टीचर्स जब अपनी सेक्स टेल्स सुनती है तो रहा नहीं जाता.

मे: ओक, और तुम मानती हो की, आई एम् वोर्थ फॉर यु .
आंशिका: येस one hundred%. आई ी लायिक यु , यु आर माय बेस्ट फ्रेंड . और गाइस की तरह नहीं, जिन्हें ना तो बात करने की तमीज़ ना ही कुछ मैनर्स .आई ी लायिक यु .

मे: थॅंक यु सो मच , फॉर दिस गिफ्ट.
आंशिका: दिस गिफ्ट इस ऑल युवर्ज़ डियर.

मे: हाय , मुझे ये गिफ्ट कब मिल सकता है?
अँहसिका: यार वी हॅव तो वेट फॉर राईट टाइम एंड राईट प्लेस टू, मैं नहीं चाहती की किसी तीसरे को पता चले. तुमने किसी को बताया तो नहीं इस बारे मैं?

मे: अरे नही यार, नहीं बातया किसी को.
आंशिका: गुड, मैने भी नहीं बताया.

मे: अछा अब कुछ वेट हुई वेजाइना?
मैं अभी भी उससे हिन्दी मैं चूत , लंड बोलने मैं हिचकिचा रहा था सो मैंसे सोचा की अभी अँग्रेज़ी से ही काम चालते हैं

आंशिका: या, विशाल आई वांट टू कम, प्लीज़ हेल्प मी .
मे: ओक, मैं तुम्हे फोन पर ही प्यार करूँ?

आंशिका: हाँ प्लीज़ करो.

मैं भी साथ साथ मूठ मरने लग गया और उसे फोन पर प्यार करने लग गया

मे: ओह आंशिका, तुम्हारे लिप्स कितने सॉफ्ट हैं, मैं इन्हे चूसना चाहत हूँ, गिव देम टू मी , तुम्हारे मोटे मोटे गाल, यउम टेस्टी, तुम्हारी नेक अहह, पूछ पूछ पूछ, आंशिका तुम्हारे मोटे मोटे बूब्स जितना भी ज़ोर से दबाऊ उतना ही कम है, कितने सॉफ्ट हैं, तुम्हारे निपल्स सो हार्ड स्टिफ, तुम्हारे निपल्स का कलर क्या है?

अँहसिका: ब्लेक कलर है, तुम्हे पसंद है?
मे: मुझे तुम्हारी हर चीज़ पसंद है.

अंहिस्का: देन इन्हे चूसो विशाल, किसी ने इन्हे प्यार नहीं दिया, तुम दो इन्हे प्यार, मेक मी फील लाईक वूमन . आह्ह्ह्ह विशाल करते रहो, आई एम् अबौट टू कम.
मे: हाँ जान कर रहा हूँ., तुम्हारे निपल्स को मुँह मैं भर कर चूस रहा हूँ, उन्हे काट रहा हूँ

आंशिका: आह्ह्ह्हहह्ह्ह्ह विशाल, कॅरी ओंन प्लीज़
मे: मेरा लंड तना हुआ है आंशिका, इसे भी प्यार करो.
मुझे लगा की कहीं हू कुछ बोले ना लंड शब सुनकर पर वो कुछ बोली नहीं

आंशिका: हाँ, विशाल, आई वांट टू फील इट इनसाइड मी , कितना बड़ा है ये विशाल?
मे: कभी मेसर नहीं करा, बट एतलीस्त 7.5 या eight होगा.

आंशिका: मुझे वो दोगे ना विशाल?
मे: हाँ अंशिका , ये तुम्हारा ही है, कहो तो तुम्हारा नाम भी लिख दूं इस पर

आंशिका: आहह, ऊऊओ माआअ, सीईईईईईईईईई, आआआआआअह्ह्ह
थोड़ी देर तक वो गहरी साँसे लेती रही और फिर बोली..
ओह विशाल थेंक यु सो मच,इतना मज़ा फिंगरिंग मैं कभी नहीं आया.
मे: रोज़ करती हो?

आंशिका: नहीं कभी कभी, पर जब से तुम्हे मिली हूँ और जो तुम हरकते करते हो, तो रहा नहीं जाता, तो आज कल तो कंटिन्यू है. और तुम?
मे: मैं रोज़ करता हूँ मास्टरबेशन, तुम्हारे बारे में सोचकर फ्रॉम द वेरी फर्स्ट दे.

आंशिका: क्या सोचते हो?
मे: यही की तुम मुझे प्यार कर रही हो, हूमें रोकने टोकने वाला कोई नहीं है, मैं हर वक़्त हर सेकंड तुमसे ही लिपटा रहता हूँ

आंशिका: मैं तुम्हे इतनी अच्छी लगती हूँ?
मे: तुम्हे नहीं पता कितनी अच्छी लगती हो तुम,

आंशिका: ओह विशाल, गिव मी किस जान, मैं तुम्हे निराश नहीं करूँगी आई प्रॉमिस.
मे: मैं भी तुम्हे हैप्पी रखूँगा, विल मेक यु फील लाईक वूमेन .

आंशिका: थॅंक्स माय डियर फ्रेंड.
मे: हे , दोस्ती मैं कोई थॅंक्स नहीं ओक.

आंशिका: ओक और कोई सॉरी भी नहीं ओक.
मे: ओक. यार अन्नू, मुझे तुमसे मिलना है, अब रुका नहीं जा रहा, प्लीज़ मेक एनी प्लान सून, ई वॉंट तो हॅव यु बॅड्ली.

आंशिका: जितना मन तुम्हारा है उतना ही मेरा भी है, बट वी हेव टू वेट.
मे: कितना वेट यार? मैं तो मर ही जाऊंगा .

आंशिका: मैं नहीं मरने दूँगी, तुम इन 32ड्ड को फील करे बिना नहीं मर सकते
मे: हाँ आई नो, इस वीक पासिबल है?

आंशिका: इस वीक पासिबल नहीं है, योउ नो कॉलेज फेस्ट और मेरी एक फ्रेंड की मॅरेज भी है सो एक रात वहाँ भी वेस्ट होगी उस दिन तो बात भी नहीं कर पाएँगे.
मे: क्या यार, ऐसी बातें मत बोलो.

आंशिका: सॉरी जान, बट क्या करूँ
मे: अछा मॅरेज पर किसके साथ जाओगी?

आंशिका: अकेले ही जाउंगी , फ्रेंड की मॅरेज है ना इसीलिए.
मे: अछा, देन इट्स गुड, डेट और जगह बताओ मैं वहाँ आ जाऊंगा .

आंशिका: नो नो प्लीज़, वहाँ मत आना. कोई देख लेगा.
मे: अरे बाब, सबके सामने नहीं आऊंगा , जब तुम वापिस आ रही होगी तब आ जाऊंगा और वैसे भी रात को तुम्हे कनवेंस नहीं मिलेगा और किसी और ने तुम्हारा फ़ायदा उठा लिया तो, सो मैं आ जाऊंगा .

आंशिका: बड़ा दिमाग़ चल रहा है, क्या बात है.
मे: क्या करूँ, कंट्रोल नहीं होता.

आंशिका: अछा सुनो जान इट्स eleven पीयेम नाउ, मेर्को कल कॉलेज भी जाना है. मैं अब सो जाऊं ?
मे: हाँ सो जाओ, नो प्राब्लम. पर पहले अपनी ब्रेस्ट को किस करो मेरी तरफ से.

आंशिका: ओक, पूच्चsssssss. अब?
मे: अब दोनो निपल्स को किस करो.
आंशिका: ओक, पूच्च पूच्च . अब?

मे: अपनी चूत मैं एक फिंगर डालो और फिर मुझे दो टेस्ट करने के लिए.
आंशिका: तुम्हे कैसे दूं, तुम तो दूर हो, मैं खुद ही टेस्ट करके बता देती हूँ अभी. ओक. आअहह, हां , पूरी गीली है अभी अभी, पूच्च पूच्च पुच्च्च , सर्प सर्प … कर ली लीक पूरी फिंगर. अब?

मे: अब मुझे किस करो, ज़ोर से.
आंशिका: मुआहहsssssssssss.

मे: मुआहह जान. जाओ अब सो जाओ.
आंशिका: ऐसे कैसे, तुम भी पहले अपनी कॉक को किस करो मेरी तरफ से.

मे: या शुवर, मुआः, कर दी.
आंशिका: गुड. गुड नाइट जान. और अपना और उसका ख़याल रखना.

मे: हाँ, तुम रखोगी हम दोनो का ख़याल.
आंशिका: गुड नाइट. टेक केयर . स्वीट ड्रीम्स.

मे: यु टू जान.
फोन कट

इस बात चीत के दौरान मैं दो बार मूठ मार चूका था और ऐसा मज़ा आजतक नहीं आया था,और लंड अभी भी तना था, ये है जादू मेरी अंशिका का मेरे उपर और मेरे लंड के उपर. अब तो बस उसे मिलकर े की देरी थी, अब मेरा रास्ता क्लियर था.