Home / desi sex stories / मेरी पहली हनीमून ट्रिप-1

मेरी पहली हनीमून ट्रिप-1

जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया था की सुहागरात के बाद की हसीन सुबह की शुरुआत हमारी किस तरह बाथरूम में हुई थी फिर हमारी टिकट रात को गोवा की ट्रैन की बुक थी 
अब आगे की कहानी मेरे सभी चाहने वालो के लिए…..

हम दोनों थोड़ी देर बाद रेलवे स्टेशन के लिए चल दिए और वह पहुंचकर मै हैरान हो गयी क्योकि इन्होने रिजर्वेशन ऐसी फर्स्ट क्लास के डिब्बे में कराया था मैंने पूछा की इतना महंगाटिकट क्यों किया इससे तो अच्छा फ्लाइट से ही चलते तो मुस्कुराके इन्होने दरवाजा बंद कर दिया और मुझे कस के अपनी बाहों में जकड लिया बोले कुछ नहीं और बस मुझे पागलों की तरह बेतहाशा चूमने लगे….
उफ़ मुझे डर लग रहा था की कोई बाहर से देख न ले और समझ नहीं आ रहा था की ट्रैन में ?
ये ट्रैन में सेक्स करना चाहते हैं क्या ये ठीक होगा उफ़ मेरी कुछ समझ नहीं आ रहा था क्योकि मुझे बहुत शर्म आ रही थी लेकिन ये मुझे बेतहाशा चूमे और चाटे जा रहे थे और शायद मै भी अपनी शर्म से बहार आने लगी थी और अपने आपको इनकी बाहों में सौप चुकी थी….
अब मै भी मस्त हो चुकी थी और मुझे बहुत अच्छा लग रह था तो मैंने खुद को ढीला छोड़ दिया सब भूल गयी मैं इनकी बाहों मैं
हाय!
कैसे दीवानो की तरह ये मुझे मेरे पुरे जिस्म पर कभी कही किस कर रहे थे तो कभी कही प्यार कर रहे थे है मैने अपनी आखे बंद कर ली और अपने आपको इनकी बाहों में छोड़ दिया अब जो हो सो हो सब इनके हवाले मैं तो पूरी मस्त हो चुकी थी…….
इन्होने मुझे अपनी बाहों में उठा के फिर सीट पर लिटा दिया और मेरी टीशर्ट उतार दी उफ़ मै अपने उरोज चुस्वाने को बेताब थी की अच्चानक तभी गेट पर नॉक हुई उफ़ घबराके मैंने अपनी टी शर्ट तुरंत पहन ली और ये गेट खोलने चले गए
गेट पर टीटी था तो उसको टिकट चैक कराया और मै इनको देख के मन ही मन हस रही थी क्योकि ये बरमूडा पहने हुए थे जिसमे इनका खड़ा लंड साफ़ दिखाई दे रहा था जो मेरे मन को बहका रहा था और मेरे सवाल का जबाब भी मुझको दे चूका था
अब मै जान चुकी थी की मेरा हनीमून कितना स्पेशल होने वाला है .. गोवा पहुँचने से पहले ही कितनी बार इस चूत का कीमा बनने वाला है ..जाने ये मुझे ट्रैन में कपड़े पहनने भी देंगे या नहीं मै बस सोच ही रही थी
की तभी इन्होने खाना आर्डर करके गेट बंद कर दिया और …………..
..
आगे की कहानी बहुत जल्द….
आपके लाइक्स और कमेंट्स का इन्तजार है मुझे………..
…………….
आपकी प्यारी रूपा