Home / antarvasana / सोनाली का वशीकरण करके choda

सोनाली का वशीकरण करके choda


राज
, meri उम्र 25 year है, meri हाईट 5 फुट 9 इंच है। में दिखने में हैंडसम हूँ, लोग mujhe स्मार्ट भी कहते है। meri एक खास बात है कि मेरा लंड पूरा 7 इंच लम्बा है और पीछे से 4 इंच मोटा और आगे से 3 इंच मोटा और एकदम गोरा है, मेरे लंड की टोपी पिंक है और बिल्कुल शेप में है, मेरे बॉल्स काफ़ी बड़े है और चीकू जैसे है। हमारे बगल वाले घर में एक लड़की रहती है जिसका नाम सोनाली है और वो बहुत ही खूबसूरत है और बिल्कुल सानिया मिर्जा टेनिस प्लेयर जैसी दिखती है, उसकी हाईट लगभग 5 फुट 5 इंच की होगी और उसकी उम्र यही कोई 20 year होगी, उसका फिगर साईज लगभग 30-24-32 का होगा। वो mujhe बहुत पसंद थी और में हमेशा से उसको chodna चाहता था। मैंने वैसे तो बहुत ही ट्राई किया था, लेकिन वो मेरे सामने ही नहीं देखती थी।
fir एक दिन न्यूज पेपर में एक ज्योतिष् महाराज की एड थी और उसमें वशीकरण काला जादू से लड़की पटाने का वादा किया था। तो तब मैंने उस ज्योतिष से संपर्क किया। तो तब उसने उसका फोटो माँगा। fir मैंने अपने मोबाईल से उसका फोटो लिया और प्रिंट करवाकर ज्योतिष को दिया। उस ज्योतिष ने 5000 रुपये चार्ज किया था। तो तब मैंने उसको 3000 रुपये दिए और बाकी का पैसा लड़की पटने के और उसको चोदने के बाद देने का वादा किया। fir थोड़े ही दिनों में लड़की का बर्ताव चेंज होने लगा और fir मैंने उसको पटाने के लिए वो सब कुछ किया, जो कि एक सेक्सी लड़के को करना चाहिए। अब वो मेरे सामने देखकर हंसने लगी थी, तो इससे meri हिम्मत बढ़ गयी तो तब मैंने उसको लेटर लिखकर शाम को गार्डन में बुलाया।
fir हमारी फर्स्ट मुलाकात में ही मैंने उसकी चूचीयों को दबाया और उसको किस किया। वो पहले तो मना करने लगी, लेकिन बाद में उसने भी मेरे लंड को meri पेंट के ऊपर से सहलाना शुरू कर दिया। fir मैंने उस ज्योतिष से संपर्क किया और उसको 1000 रुपये दिए और कहा कि ऐसा करो कि वो मुझसे चुदवाए। fir मैंने सोनाली को अगले दिन बाहर चलने के लिए इन्वाइट किया। अब वो अपने घर पर कोचिंग जाने का बहाना करके मेरे साथ बाइक पर बैठ गयी थी। fir मैंने होटल में एक रूम बुक करवाया और बाहर घुमने के बहाने उसे होटल में लेकर गया।
fir पहले तो वो विरोध करने लगी, लेकिन बाद में मैंने बहाने बनाकर उसको पटाया। fir होटल के रूम में जाते ही मैंने उसको किस किया और पीछे से उसके बूब्स को दबाया। अब वो भी mujhe फ्रेंच किस करने लगी थी। fir मैंने धीरे से उसकी पेंटी में अपना एक हाथ डालकर उसकी choot को सहलाना शुरू किया। तब वो एकदम से नाराज हो गयी और कहने लगी कि यह सब शादी के बाद, पहले मुझसे शादी करो बाद में सेक्स करना। तब मैंने उससे कहा कि शादी तो mujhe तुझसे ही करनी है meri रानी और fir मैंने उससे कहा कि में सेक्स नहीं कर रहा, हम यूँ ही मज़ा लूटेंगे और fir शादी के बाद सेक्स करेंगे। में जानता था कि एकबार उसकी choot को चाट डालूँगा, तो वो खुद ही सेक्स कराएगी। fir मैंने उसको लेटा दिया और उसकी चूचीयाँ नंगी कर डाली और चूसने लगा था। fir मैंने उसकी पेंटी भी उतार दी और उसकी choot को चाटने लगा था। अब वो पूरे मज़े से अपनी choot को चटवा रही थी। fir मैंने धीरे से meri पेंट की चैन खोली तो मेरा लंड जो कि तना हुआ था झट से बाहर निकल गया। तब वो चौंक गयी और कहने लगी कि बाप रे इतना बड़ा लंड होता है क्या?
अब मेरे लंड छेद में से कुछ सफ़ेद-सफ़ेद निकल रहा था, जो काफ़ी चिपचिपा था। अब सोनाली मेरे लंड को चाटने लगी थी और कहने लगी कि उसका स्वाद बटर जैसा है। अब हम दोनों 69 की पोज़िशन में लेट गये थे, यानी मेरा मुँह उसकी choot पर और उसका मुँह मेरे लंड पर था। अब हम दोनों एक दूसरे के लंड और choot को चाटने लगे थे, उसकी choot की साईज़ काफ़ी बड़ी थी और बीच के होंठ काफ़ी लंबे थे, उसका क्लिट काफी छोटा और choot का गेप थोड़ा सा छोटा था। fir में उसकी choot के होंठो पर अपनी ज़ुबान फैरने लगा। अब वो सिसकियाँ लेने लगी थी। अब वो भी मेरा लंड अच्छी तरह से चाट रही थी और हर बार जितना अंदर जा सके उतना अपने मुँह में ले रही थी। अब में अपने एक हाथ की उंगली उसकी choot में डालने लगा था और अपने होंठो से उसकी choot चाटने लगा था। अब वो काबू से बाहर होती जा रही थी और अपनी गांड उछाल-उछालकर ऊऊऊ, आआआहह कह रही थी।
अब वो मेरे बॉल को भी चाटने लगी थी और अब वो उसकी गांड को उछाल उछालकर मज़े लेने लगी थी। fir मैंने अपनी एक उंगली और ज़्यादा उसकी choot में डाली। तब वो हैरान रह गयी और ऊऊऊ, आह कहकर mujhe रोकने जा रही थी। fir मैंने उसकी choot को अपने होंठो में दबाकर ज़ोर-ज़ोर से चूसना चालू किया। अब वो बहुत एग्ज़ाइटेड हो गयी थी और आहह आहह कहने लगी थी। तभी उसकी choot पानी छोड़ने लगी और अब meri उंगली पर उसका सफ़ेद-सफ़ेद पानी आने लगा था। अब वो झड़ने वाली थी और उसकी सिसकारियों से में भी एग्जाइटेड होकर ज़ोर-ज़ोर से उसकी choot चाटने लगा था। अब में अपनी जीभ को उसकी choot में डालकर सहलाने लगा था। अब वो बहुत हॉर्नी हो गयी थी और आहह, आआआअहह करके बोलने लगी थी अब और मत तड़पाओ, अपने इस लंड से mujhe चोद दो।


fir तभी में उठा और थोड़ा तेल उसकी choot में लगाया और थोड़ा मेरे लंड पर भी लगाया और fir उसको कमर के बल लेटाकर उसके दोनों पैर मेरे कंधो पर रख दिए। अब मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा था और नसें तनी हुई थी। fir मैंने अपने लंड को उसकी choot पर रगड़ा और टोपी को उसकी choot के मुँह पर रखकर ज़ोर से एक झटका दिया। अब में एक ही झटके में उसकी सील तोड़ना चाहता था। तभी वो ज़ोर से चीख पड़ी ऊऊऊ माँ, वो इतनी ज़ोर से चीखी थी की होटल के रूम के बाहर भी आवाज गयी होगी। अब मेरा लंड एक ही झटके में आधा यानी 6 इंच अंदर चला गया था। अब वो आआआआहह, माँ, आआ, मर गयी, बाहर निकालो, ऊऊऊऊऊऊओं जैसे चिल्ला रही थी और meri पकड़ से छूटने के लिए ज़ोर लगा रही थी। अब उसकी आँखों में से आसूं निकल रहे थे। तब मैंने fir से एक ज़ोर का झटका मारा तो तब वो fir से चिल्ला उठी आआआआअहह, आऊ, माँ, आआआ और साथ में उसकी choot में से खून भी निकल रहा था। अब वो बेहोश हो गयी थी। अब मेरा लंड लगभग 8 इंच अंदर जा चुका था। अब में घबरा गया था और अपना लंड बाहर निकालकर पानी लाने के लिए उठा और उसके मुँह पर डाला। अब भी बेहोश थी और उसकी choot में से खून धीरे-धीरे निकल रहा था।
अब मेरे लंड पर भी कुछ खून लगा हुआ था। fir मैंने बार-बार उसके मुँह पर पानी डाला और लास्ट में पूरा बोतल उसके मुँह पर डाल दिया। तब वो अपनी आँखे झपकाती हुई होश में आई और आआआहह, आहह कहकर बताने लगी कि yearे ये क्या किया? mujhe बहुत दुख रहा है और अब वो खड़ी हो गयी थी और अब उसे चक्कर भी आ रहे थे। fir मैंने उसे हाथ पकड़कर बैठा दिया और पास में पड़ा टावल उठाकर उसकी choot पर रख दिया। अब बेड की चादर पर भी खून गिरा हुआ था, उसे देखकर वो घबरा गयी थी और टावल उठाकर उसकी choot देखने लगी थी, जहाँ से अब भी थोड़ा सा खून निकल रहा था। अब उसे चक्कर आ रहे थे और वो दर्द के मारे अब भी आहह, आहह कर रही थी। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
fir उसने mujhe पानी पिलाने को कहा, लेकिन बोतल खाली थी। fir मैंने उसे लेटा दिया और कम्बल ओढ़ाकर अपने कपड़े पहनकर रूम के बाहर पानी लेने चला गया। fir जब में वापस आया तो तब वो करवट बदलकर सो रही थी। अब पीछे से उसकी गांड दिख रही थी। fir पानी पिलाने के बाद वो mujhe गालियाँ देने लगी yearे ये क्या किया? mujhe बहुत दर्द हो रहा है। तो तब मैंने कहा कि जान यह तो सभी लड़कियों को एक दिन सहन करना पड़ता है। fir मैंने टावल से उसकी choot पोंछकर उसे वॉश करने को कहा। अब खून आना बंद हो चुका था। fir जैसे ही वो वॉशरूम में जाने के लिए उठी तो उसके पैर सही तरह से नहीं उठ रहे थे और अब उसको चलने में भी दर्द हो रहा था। अब में पीछे से यह सब देखकर बहुत खुश हो रहा था और अपना लंड मसल रहा था। fir वॉशरूम से आने के बाद वो अपने कपड़े उठाने लगी। तब मैंने पीछे से जाकर उसको दबोच लिया और उसकी चूचीयाँ मसलने लगा था। अब वो घबरा गयी थी और कहने लगी कि अब क्या mujhe खा जाओगे?
तब मैंने कहा कि meri रानी अभी तो सिर्फ़ सेक्स की शुरुआत ही हुई है। अभी तो तुमको मलाई चटानी बाकी है, लेकिन अब तुम्हें दर्द नहीं होगा और मज़ा आएगा। fir मैंने उसे बेड पर उठाकर पटका और उसकी choot को चाटने लगा था। अब meri जीभ उसकी choot के अंदर घुमाने लगी थी और अब वो अपने मुँह से आआआ, आआआआआ कहने लगी थी। अब उसकी आवाज में दर्द नहीं रहा था, लेकिन वो मज़े लेने लगी थी। fir मैंने उसकी choot पर fir से तेल लगाया और अपने लंड पर भी थोड़ा तेल लगाया। अब मैंने उसकी टाँगे ऊँची करके मेरे कंधे पर रख दी थी और fir से मेरा लंड का सुपाड़ा टोपी उसकी choot में डालने लगा था। fir अबकी बार मैंने धीरे-धीरे चोदने का इरादा किया और मेरा लंड उसकी choot में 2 इंच अंदर करके झटके मारने लगा था और साथ ही साथ उसकी निपल्स को भी मसलने लगा था और उसको किस भी करने लगा था। अब तेल ज़्यादा होने की वजह से मेरा लंड पचक-पचक के साथ अंदर जा रहा था।
अब वो भी अपनी choot को एडजस्ट करके मेरा साथ देने लगी थी और अया आआआआ कह रही थी। अब मैंने मेरा लंड धीरे-धीरे करके 7 इंच जितना अंदर घुसा दिया था और धीरे-धीरे झटके देने लगा था। अब उसे दर्द होने लगा था और अब वो अपना एक हाथ मेरे पेट के नीचे रखकर mujhe झटके मारने से कंट्रोल कर रही थी। fir मैंने fir से एक ज़ोरदार झटका मारने का इरादा किया और पीछे हटकर उसके पैरो को टाईट पकड़ा, जो कि मेरे कंधे पर थे और ज़ोर से एक झटका मारा। तब वो fir से ऊऊओह, माँ, आआआ माँ करने लगी थी और मुझसे कहने लगी कि yearा mujhe पटाकर खूब मज़े लूटता है, yearे जल्दी से अपना लंड बाहर निकाल, mujhe बहुत दर्द हो रहा है। लेकिन अब में उसको ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा था और साथ ही साथ उसको फ्रेंच किस करने लगा था।


अब उसके मुँह से आहह आआआ की आवाज हर झटके के साथ आ रही थी और बेड भी हिलकर दीवार से टकरा रहा था। fir मैंने बेड के ऊपर वाले हिस्से पर अपने हाथ रख दिए और अब मेरा पूरा लंड उसकी choot में अंदर बाहर पेलने लगा था। अब मेरा लंड उसके गर्भाशय से टकरा रहा था और वो में महसूस कर रहा था। अब करीब 20 मिनट तक उसकी choot को चोदने के बाद उसमें से पच-पच की आवाज आने लगी थी और अब में समझ गया था कि वो झड़ने वाली है। तब मैंने उसकी दोनों टाँगे अलग करके फैला दी और जितनी हो सके चौड़ी कर दी, वी-शेप में। अब में खड़ा हो गया था और झुककर उसको चोदने लगा था। अब उसे भी मज़ा आने लगा था और अब वो सिसकियाँ भरने लगी थी और कहने लगी कि जल्दी-जल्दी चोदो और चोदो। अब में उसे पूरे झटके मारकर मेरा पूरा 12 इंच का लंड उसकी choot में एक साथ डालने लगा था। अब उसे भी दर्द हो रहा था, लेकिन उसे मज़ा भी आ रहा था। अब वो अपने मुँह से आई लव यू बोल रही थी और अब उसने अपनी एक टांग ऊपर कर ली थी और मेरे कंधे पर रख दी और दूसरी टांग फैला दी थी।
अब में थोड़ा सा साईड में आकर उसको क्रॉस में चोदने लगा था। अब में भी झड़ने वाला था तो तब में भी ज़ोर-ज़ोर से झटके मारने लगा। अब सोनाली भी झड़ गयी थी और आआआ, आआआआ कहकर आई लव यू बोलने लगी थी। अब में झड़ने वाला था और fir में अपनी मलाई उसके मुँह में डालने के लिए उठा और उसको मेरा लंड अपने मुँह में लेने को कहा। अब सोनाली मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी थी। fir थोड़ी देर के बाद मैंने अपना सारा गर्म-गर्म रस उसके मुँह में डाल दिया और थोड़ा सा उसकी चूचीयों पर डाल दिया था। अब वो एकदम से दंग रह गयी थी और कहने लगी कि यह सब क्या है? तो तब मैंने उसे समझाया कि यह मेरा प्यार और तुम्हारे लिए मेरा प्रसाद है, इसको चाटो। तब उसने मेरा पूरा लंड चाटकर सारी मलाई साफ कर दी। fir मैंने उससे पूछा कि टेस्ट कैसा लगा? तो तब वो बोली कि बटर जैसा। अब उसकी choot फटकर रह गयी थी और उसकी जगह बढ़ गयी थी और बीच से गोल दिख रही थी। अब वो उठकर वॉशरूम में जाने के लिए लड़खड़ाती हुई अटक-अटककर चल रही थी। fir उसके बाद mujhe जब भी कोई मौका मिला तो तब मैंने उसकी खूब चुदाई की और खूब इन्जॉय किया ।।
धन्यवाद

: ”,
: true,
: ”
};
};

var js, fjs = d.getElementsByTagNames0;
if d.getElementByIdid return;}
js = d.createElements; js.id = id;
js.src = “//connect.facebook.net/’.$tco_fb_locale.’/sdk.js”;
fjs.parentNode.insertBeforejs, fjs;
}document, ‘script’, ‘facebook-jssdk’;